विश्वविद्यालय का नारा: “हार्दिक विकास एवं आर्थिक विकास”

Quick Links
University Updates
Dr. B. R. Ambedkar University of Social Sciences, dedicated to the memory and ideals of Bharat Ratna




Vice Chancellor Message

देश के प्रथम सामाजिक विज्ञान विश्वविद्यालय के रूप में मध्यप्रदेश शासन द्वारा डॉ. बी. आर. अंबेडकर सामाजिक विज्ञान विश्वविद्यालय की स्थापना डॉ.अंबेडकर की जन्मस्थली महू, इंदौर में डॉ बी आर अंबेडकर सामाजिक विज्ञान विश्वविद्यालय अधिनियम 2015 द्वारा की गई है। विश्वविद्यालय ने सन् 2016 से अपनी शिक्षण और शोध यात्रा प्रारंभ की है।

इस विश्वविद्यालय का मुख्य उद्देश्य अनुसूचित जातियों, जनजातियों तथा अन्य पिछड़े वर्ग का उत्थान करना है। इन वर्गों का सामाजिक व आर्थिक सशक्तीकरण, शैक्षणिक उत्कृष्टता एवं कौशल विकास करते हुए नीति निर्धारण एवं राष्ट्र निर्माण में इनकी सशक्त सहभागिता सुनिश्चित करना भी विश्वविद्यालय के लक्ष्य में सम्मिलित है। हम विभिन्न आयोजनों, संगोष्ठियों, कार्यशालाओं तथा व्याख्यानों के माध्यम से क्षमता निर्माण, उद्यमिता विकास, कल्याणकारी आर्थिक नीति, नीतिगत सुधार विधि और सामाजिक न्याय का ज्ञान प्रदान करते हुए सामाजिक गरिमा और अवसरों की समानता प्राप्त करने हेतु विद्यार्थियों को प्रशिक्षित करेंगे, नवाचार के लिए प्रोत्साहित करेंगे। वैचारिक अभिव्यक्ति,मानवाधिकारों की रक्षा, पर्यावरण अध्ययन, कृषि विकास, प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण, पारिस्थितिकी सौहार्द्र तथा राष्ट्र निर्माण में सक्षम भूमिका निभाने के लिए विद्यार्थियों में वैज्ञानिक स्वभाव विकसित करना हमारा उद्देश्य है। निर्णय प्रक्रिया में अनुसूचित जाति, जनजाति तथा पिछड़े वर्ग की भागीदारी बढ़ाने के उद्देश्य से छात्रों के सर्वांगीण विकास के माध्यम से विद्यार्थियों में आत्मविश्वास पैदा करना हमारी प्राथमिकता है। मेरा विश्वास है कि ऐसा करके हम राष्ट्रीय विकास में इस वर्ग की समृद्ध भागीदारी सुनिश्चित कर सकेंगे। विश्वविद्यालय के उपरोक्त सभी उद्देश्यों की पूर्ति के लिए अनुसूचित जातियों, जनजातियों एवं पिछड़े वर्गों के रहवासी स्थलों के आसपास मध्य प्रदेश के सभी जिलों में सामाजिक विज्ञान केंद्रों की स्थापना करने की हमारी कल्याणकारी योजना भी है। मध्य प्रदेश शासन के दृष्टि पत्र 2018 के अनुसार समावेशी विकास के लिए समाज के वंचित वर्गों हेतु समुचित अवसरों का विकास तथा मुख्यमंत्री सामुदायिक नेतृत्व क्षमता विकास कार्यक्रम के अंतर्गत सामुदायिक विकास विषयों के स्नातक, स्नातकोत्तर, एमफिल व पीएचडी स्तर पर नवाचार पाठ्यक्रमों को विश्वविद्यालय में प्रारंभ करना हमारा प्रथम लक्ष्य है। विश्वविद्यालय के सामाजिक विज्ञान केंद्रों का मध्य प्रदेश के सभी 51 जिलों में संचालित करना का प्रस्ताव हमारी विकासोन्मुखी योजना में सम्मिलित है। विश्वविद्यालय अपने उद्देश्यों के अनुरूप नवीन समाज लाभकारी शोध परियोजनाओं को प्रारंभ करने हेतु कृत संकल्पित है। शिक्षा नीति 2020 पर आधारित विद्यार्थियों शिक्षकों और विश्वविद्यालय का गुणात्मक विकास मेरी प्राथमिकता रहेगी। विद्यार्थियों, प्राध्यापकों और समाज जनों के सहयोग से विश्वविद्यालय का चहुंमुखी विकास मेरी प्रगतिकामी कार्य -योजना है।


प्रो. डी.के. शर्मा

कुलपति